♦ ♦ ♦ ♦ ♦ ♦ सन्देश♦ ♦ ♦ ♦ ♦ ♦

मा0 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की इच्छानुरूप क्षेत्रीय भाषाओं  का विकास भारतीय संस्कृति का विकास है। मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही उनका महत्वपूर्ण वक्तव्य इन क्षेत्रीय भाषाओं के विकास के सन्दर्भ में आया था। हिन्दुस्तानी एकेडेमी, इलाहाबाद उस दिशा में सार्थक प्रयास कर रही है। हिन्दी, उर्दू के साथ-साथ भोजपुरी, अवधी, ब्रजभाषा एवं बुन्देली भाषा पर संगोष्ठियों, कवि सम्मेलनों, कार्यशालाओं एवं नाट्य प्रस्तुतियों के माध्यम से निरन्तर कार्यक्रम संचालित किये जायेंगे।
उत्तर प्रदेश शासन ने एकेडेमी को उदारतापूर्वक संसाधन प्रदान कर हमारा उत्साह बढ़ाया है। हमारी प्राथमिकता होगी एकेडेमी के पारम्परिक अकादमिक स्वरूप को संरक्षित रखने की और कई नये  नामित पुरस्कारों द्वारा साहित्यकारों के मनोबल को ऊँचा करने की ।